कारोबारदेशबिजनस
Trending

कोरोना वायरस से बेहाल इस हवाई कंपनी ने मांगी सरकार से मदद, बोली- नहीं दे पाएंगे अप्रैल की सैलरी

कोरोना वायरस के चलते भारत सहित कई देशों में लॉकडाउन है. इसके चलते सड़क, रेल से लेकर के हवाई यातायात तक बंद है. ऐसे में भारत स्थित कई हवाई कंपनियों ने भी अपनी सेवाओं को बंद कर रखा है. 

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के चलते भारत सहित कई देशों में लॉकडाउन है. इसके चलते सड़क, रेल से लेकर के हवाई यातायात तक बंद है. ऐसे में भारत स्थित कई हवाई कंपनियों ने भी अपनी सेवाओं को बंद कर रखा है. सरकार द्वारा केवल कार्गो विमानों के परिचालन की अनुमति है. इन हालातों में कई कंपनियों की वित्तीय हालत काफी पतली हो गई है, जिसके चलते वो अब कर्मचारियों को सैलरी देने की स्थिति में भी नहीं है. कंपनियां अब सरकार से गुहार लगा रही हैं कि उनको आर्थिक मदद दी जाए, ताकि इस मुश्किल समय में उनकी बैंलेस शीट पर असर न दिखे.

सरकार से मिले वित्तीय मदद
बजट हवाई सेवा प्रदाता कंपनी गो एयर ने सरकार और बैंकों से वित्तीय मदद के लिए हाथ फैलाया है. कंपनी के सभी कर्मचारियों को भेजे अपने संदेश में गो एयर का संचालन करने वाली कंपनी वाडिया समूह के चेयरमैन नुस्ली वाडिया और गो एयर के एमडी जेह वाडिया ने कहा है कि लॉकडाउन के हटने के बाद कंपनी जल्द से जल्द अपनी सेवाओं को शुरू करने पर विचार कर रही है. हालांकि पूरी तरह से सेवाओं को वापस पटरी पर लाने में कुछ महीने लग जाएंगे. कंपनी ने सरकार और बैंकों से भी वित्तीय मदद करने की गुहार लगाई है, लेकिन फिलहाल किसी तरह का कोई जवाब नहीं मिला है.

विश्व के अन्य देशों में मिल रही है मदद
गो एयर ने कहा कि विश्व के अन्य देशों में स्थित एयरलाइन कंपनियों को सरकारों से वित्तीय मदद मिल रही है. इन देशों के बैंक भी केंद्रीय बैंकों के साथ मिलकर हवाई कंपनियों की मदद कर रहे हैं. इस वित्तीय मदद से कंपनियां अपने कर्मचारियों को सैलरी देने के अलावा अन्य भुगतान कर पा रहे हैं. कंपनियां इस मदद से आगे अपने ऑपरेशन शुरू कर पाएंगी.

अभी नहीं बनी है बैंकों के साथ बातचीत
गो एयर ने कहा है कि अभी बैंकों के साथ हुई बातचीत में कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है. कंपनी के पास मार्च में केवल 17 से 24 दिनों की आय बची थी, जिसके बाद अप्रैल में कोई आय नहीं हुई है. इसके बावजूद कंपनी ने अपने 40 फीसदी कर्मचारियों को वेतन दिया है. हालांकि 60 फीसदी कर्मचारी ऐसे हैं, जिनको फिलहाल मार्च और अप्रैल की सैलरी नहीं मिली है. अगर मदद नहीं मिली तो आगे भी कर्मचारियों को सैलरी संकट का सामना करना पड़ सकता है.

एक जून से फ्लाइट शुरू होने की उम्मीद
फिलहाल कंपनी को उम्मीद है कि 1 जून से यात्री विमान सेवाएं शुरू हो जाएंगी. हालांकि अभी कंपनी ने किसी तरह की कोई बुकिंग शुरू नहीं की है. कंपनी के सीईओ ने अपने वेतन में 50 फीसदी की कटौती कर दी है.

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close