कारोबारबिजनसमनी
Trending

अपना बिजनेस करने वालों को मोदी सरकार का तोहफा! दी 1500 करोड़ रुपये की सौगात

मुद्रा स्कीम के तहत शिशु लोन लेने वालों को केंद्र सरकार (Government of India) ने बड़ी राहत दी है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन (Finance Minister of India) ने ऐलान किया कि मुद्रा स्कीम के तहत शिशु लोन लेने वालों को 12 महीने तक सरकार ब्याज में 2 फीसदी तक छूट देगी.

  • KHABARSAFAR
  • UPDATED: MAY 14, 2020, 8:40 PM IST

मुद्रा स्कीम के तहत मिलेगी छूट

नई दिल्ली. कोरोना के इस संकट में अपना बिजनेस करने वालों को बड़ी राहत देते हुए केंद्र सरकार (Government of India) ने मुद्रा लोन के तहत बड़ी राहत का ऐलान किया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन (Finance Minister of India) ने मुद्रा स्कीम के तहत शिशु लोन लेने वालों को 12 महीने तक सरकार ब्याज में 2 फीसदी तक छूट देने की घोषणा की है. इससे लोन लेने वाले करीब 3 करोड़ लोगों के कुल 1500 करोड़ रुपये बचेंगे. बता दें कि इस स्कीम के तहत अपना कारोबार शुरू करने के लिए सरकार कम दरों पर लोन उपलब्ध कराती है. इस स्कीम में 3 श्रेणी में लोन दिए जाते हैं.

क्या है मुद्रा लोन योजना?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुद्रा योजना की शुरुआत 2015 में की थी. इस योजना का उद्देश्य रेहड़ी-पटरी वाले से लेकर छोटे कारोबार को बिना किसी जमानत के लोन मुहैया कराना है. कोई भी व्यक्ति जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता है, वह इस योजना के तहत लोन ले सकता है. अगर आप मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. लोन की लिमिट 20 लाख रुपये तक बढ़ सकती है.

बिना गारंटी के मिलता है लोन मुद्रा योजना के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है. इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है. मुद्रा योजना में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है. लोन लेने वाले को एक मुद्रा कार्ड मिलता है.


मुद्रा में तीन तरह के लोन मिलते हैं
मुद्रा में तीन तरह के लोन मिलते हैं.  शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं. किशोर लोन के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं. तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं.

लोन पर ब्याज दरें
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं. अलग-अलग बैंक या वित्तीय संस्थाएं अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12 फीसदी ही है.

कैसे मिलेगा लोन?
मुद्रा योजना के तहत लोन के लिए आपको सरकारी या बैंक की शाखा में आवेदन देना होगा. अगर आप खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आपको मकान के मालिकाना हक़ या किराये के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे. बैंक मैनेजर वेरिफिकेशन के बाद लोन मंजूर करता है.

कहां से मिलता है लोन?
1. देश के सभी सरकारी बैंकों को सरकार ने इसके लिए अधिकृत किया है.
2. प्राइवेट बैंक जिसमें एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, सिटी यूनियन बैंक, डीसीबी बैंक, फेडरल बैंक, इंडस इंड बैंक, जम्‍मू एंड कश्‍मीर बैंक, कर्नाटक बैंक, करूर वैश्‍य बैंक, कोटक महिंद्रा, नैनीताल बैंक, साउथ इंडियन बैंक और यस बैंक व आईडीएफसी बैंक शामिल हैं।

3. रूरल बैंक

4. कोऑपरेटिव बैंक

5. नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों से भी मुद्रा लोन ले सकते हैं.

ये है पूरी डिटेल….https://www.mudra.org.in/Offerings

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close