कारोबारबिजनस
Trending

गडकरी से उद्योगपतियों ने कहा- हमें भी छूट का इंतजार, कब मिलेगा?

लॉकडाउन-4 में कई तरह की छूट दी गई हैं, लेकिन होटल, टूरिज्म और एविएशन सेक्टर अब भी इंतजार में है. अभी तरह से इस सेक्टर को हरी झंडी नहीं मिली है.

नई दिल्ली, 18 मई 2020, अपडेटेड 08:45 AM IST

  • उद्योग जगत का गडकरी से लॉकडाउन में छूट की मांग
  • गडकरी ने कहा कि सरकार रोज स्थिति की रही है समीक्षा

लॉकडाउन की वजह लगभग सभी तरह की आर्थिक गतिविधियां थमी हुई हैं. सरकार धीरे-धीरे अब लॉकडाउन के नियमों में छूट दे रही हैं. इंडिया टुडे के खास के खास कार्यक्रम ई-कॉन्क्लेव में सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ देश के कई बड़े उद्योगपति शामिल हुए.

दरअसल, लॉकडाउन-4 में कई तरह की छूट दी गई हैं, लेकिन होटल, टूरिज्म और एविएशन सेक्टर अब भी इंतजार में है. अभी तरह से इस सेक्टर को हरी झंडी नहीं मिली है. इस कार्यक्रम में शामिल उद्योगपतियों ने नितिन गडकरी से लॉकडाउन के बीच कारोबार शुरू करने के लिए इजाजत मांगी.

एविएशन सेक्टर की डिमांड

स्पाइस जेट चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर अजय सिंह ने कहा कि कोरोना की वजह से सबसे ज्यादा एविएशन सेक्टर प्रभावित हुआ है. सरकार को इसके बारे में सोचना चाहिए. उन्होंने कहा कि जिस तरह धीरे-धीरे उद्योग खोले जा रहे हैं, उसी तरह से एविएशन को सेक्टर को भी इजाजत मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा कि एविएशन सेक्टर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम करने को तैयार है.

हवाई सफर कब से शुरू होगा? इसके जवाब में सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि वो एविएशन सेक्टर को लेकर गृह मंत्रालय और वित्त मंत्रालय से बात करेंगे. कोरोना संकट के बीच सरकार को सभी सेक्टर का ध्यान है.

होटल उद्योग तबाह, अब इजाजत का इंतजार

वहीं ओयो रूम के फाउंडर और को-चेयरमैन रितेश अग्रवाल ने कहा कि एविएशन सेक्टर के बाद सबसे ज्यादा होटल इंडस्ट्रीज प्रभावित हुआ है. उन्होंने कहा कि इस सेक्टर से बड़ी संख्या लोग जुड़े हैं. सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम को शुरू करने के लिए सरकार रोडमैप सामने लाना चाहिए. कोरोना के बाद इंडस्ट्रीज को बदलाव के लिए तैयार रहना होगा. जो बदलाव करेगा वही सर्वाइव कर पाएगा.

महिंद्रा एंड महिन्द्रा मैनेजिंग डायरेक्टर पवन गोयंका ने कहा कि सरकार को डिमांड बढ़ाने पर फोकस करना चाहिए. इसकी लिए सिस्टम में नकदी की जरूरत होगी. सरकार को MSME का ख्याल रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि उद्योग जगत को जीएसटी में राहत मिलनी चाहिए. इसके अलावा इस कार्यक्रम शामिल हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदी ने भी लॉकडाउन में छूट की मांग की.

उद्योगपतियों को जवाब देते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार हर दिन स्थिति की समीक्षा कर रही है. 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज कोरोना के बाद भारत को मैन्युफैक्चरिंग हब बनाने के लिए दिया है. उसमें सभी उद्योग की अहम भूमिका होगी. गडकरी ने कोरोना से जीत हमारी होगी, इस विश्वास के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आगे बढ़ना होगा.

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close