महाराष्ट्रमुंबई
Trending

अयोध्या में मिल रहे मंदिर अवशेषों पर शिवसेना बोली- ये राम मंदिर निर्माण का नहीं, कोरोना से लड़ने का समय

UPDATED: MAY 21, 2020, 10:19 PM IST

पिछले दिनों अयोध्या (Ayodhya) में मिले राम मंदिर (Ram Mandir) के अवशेष को लेकर शिवसेना ने कहा है कि ये राम मंदिर जैसे मुद्दों को देखने का नहीं बल्कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने का समय है.

नई दिल्ली. देश में हुए राम मंदिर आंदोलन (Ram Mandir Aandolan) में सक्रिय हिस्सा रह चुकी शिवसेना (Shivsena) अब राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Nirman) को लेकर अलग रुख अपनाती दिख रही है. पिछले दिनों अयोध्या (Ayodhya) में मिले राम मंदिर (Ram Mandir) के अवशेष को लेकर शिवसेना ने कहा है कि ये राम मंदिर जैसे मुद्दों को देखने का नहीं बल्कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने का समय है.

शिवसेना के मुख्य रणनीतिकार और राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने एक अंग्रेजी चैनल से बातचीत में कहा कि ये अवसर इस मंदिर और भारत-पाकिस्तान (India Pakistan) जैसे मुद्दों का नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारा पूरा ध्यान कोरोना वायरस से लड़ाई पर है. जो अवशेष मिलेंगे उन्हें देखने वाले अन्य लोग भी हैं. फिलहाल अभी राम मंदिर और भारत पाकिस्तान जैसे मुद्दों को अलग रखना चाहिए. राउत ने कहा कि अभी देश के सामने सबसे बड़ा संकट कोरोना वायरस का है और इसलिए हमें उस पर ही ध्यान देना चाहिए.

बता दें महाराष्ट्र में शिवसेना ने दशकों से चला आ रहा बीजेपी का गठबंधन तोड़कर एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई है.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं. महाराष्ट्र में अब तक 39,297 केस सामने आए हैं जिसमें से 27,589 केस एक्टिव हैं और 10,318 लोग ठीक हुए हैं. महाराष्ट्र में अब तक 1390 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित मुंबई और पुणे हैं. भारत की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई में सबसे ज्यादा केस सामने आ रहे हैं.

11 मई से चल रही है खुदाई
बता दें उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्मभूमि स्थल (Ramjanmabhoomi Sthal) पर 11 मई से चल रहे समतलीकरण में राम मंदिर के अवशेष पाए गए हैं. जिसमें आमलक, कलश, पाषाण के खंभे, प्राचीन कुआं और चौखट शामिल हैं. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र (Ram Janmabhoomi Tirtha Kshetra Trust) ने ये समतलीकरण का कामशुरू कराया है. जेसीबी से की जा रही इस खुदाई में मंदिर के प्राचीन अवशेष मिले हैं. जबकि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मुताबिक लॉकडाउन की वजह से राम मंदिर निर्माण में देरी हो रही थी और इसी वजह से मंदिर में काम शुरू करवाया गया. अवशेषों के मिलने की पुष्टि श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने ही की है.

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close