बिजनसमनी
Trending

सोने की कीमत 48,982 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंची, एमसीएक्स पर यह अब तक का रिकॉर्ड ऊपरी स्तर

कोरोनावायरस संक्रमण बढ़ने, इससे अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए केंद्रीय बैंकों द्वारा दिए गए राहत पैकेजों के कारण दुनियाभर में ब्याज दर गिरने और अमेरिका-चीन तनाव जैसे मुद्दों की वजह से निवेशक सोने में निवेश को सुरक्षित मान रहे हैं

अहमदाबाद में गोल्ड का हाजिर भाव 48,908 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंचा

अमेरिका में सोना 8 साल में पहली बार 1,800 डॉलर प्रति औंस के पार

ख़बर सफ़र मीडिया

Jul 01, 2020, 06:10 PM IST

नई दिल्ली. घरेलू बाजार में सोने की कीमत ने बुधवार को नया रिकॉर्ड ऊपरी स्तर छू लिया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) में 5 अगस्त की मैच्योरिटी वाले गोल्ड का वायदा भाव (फ्यूचर प्राइस) 0.4 फीसदी उछलकर 48,982 रुपए प्रति 10 ग्राम के ऊपरी स्तर तक पहुंच गया। यह घरेलू बाजार में गोल्ड के वायदा भाव का ऐतिहासिक ऊपरी स्तर है। इस बीच अहमदाबाद में गोल्ड का हाजिर भाव 48,908 रुपए प्रति 10 ग्राम दर्ज किया गया।

सोने की कीमत में और बढ़ोतरी हो सकती है

कोटक सिक्यूरिटीज ने एक रिपोर्ट में कहा कि अमेरिका और चीन के बीच तनाव ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की परेशानी बढ़ाई है। इसके अलावा महंगाई बढ़ी है, जबकि मांग घटी है। वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती है। इस बीच वायरस संक्रमण में बढ़ोतरी के कारण सोने की कीमत में आगे भी बढ़ोतरी जारी रह सकती है। भारत में गोल्ड के भाव में 12.5 फीसदी आयात शुल्क और 3 फीसदी जीएसटी रेट भी शामिल रहते हैं। मंगलवार को गोल्ड ने 1 फीसदी से ज्यादा उछाल के साथ 48,825 रुपए प्रति 10 ग्राम का स्तर छूआ था।

अमेरिका में 1,804 डॉलर प्रति औंस तक पहुंचा सोना, 8 साल से ज्यादा का उच्च स्तर

न्यूयॉर्क के कमोडिटी एक्सचेंज में अगस्त डिलीवरी वाला गोल्ड मंगलवार को 1.3 फीसदी उछलकर 1,804  डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गया था। यह नवंबर 2011 के बाद सबसे ऊंचा स्तर है। गत आठ साल से ज्यादा समय में सोना पहली बार 1,800 डॉलर प्रति औंस के पार पहुंचा है। यह 1.1 फीसदी बढ़ोतरी के साथ 1,800.50 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ था। अंतरराष्ट्र्रीय बाजार में सितंबर 2011 में सोने ने रिकॉर्ड ऊपरी स्तर बनाया था। उस समय इसका वायदा भाव (फ्यूचर प्राइस) 1,923.70 के ऊपरी स्तर और हाजिर भाव (स्पॉट प्राइस) 1,921.17 तक पहुंचा था। जून तिमाही में सोना का प्रदर्शन गत चार साल में सबसे अच्छा रहा है।

इस साल अंतरराष्ट्र्रीय बाजार में करीब 20 फीसदी बढ़ी है सोने की कीमत

ब्याज दर में गिरावट और कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में बढ़ोतरी के कारण सोने में निवेश को सुरक्षित माना जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोरोनावायरस महामारी को सबसे बुरा दौर अभी तक आया नहीं है। अमेरिका और चीन के व्यापारिक रिश्तों में बढ़ी खटास को भी सोने में उछाल का कारण माना जा रहा है। गोल्डमैन सैक्स के मुताबिक सोने की कीमत में और बढ़ोतरी हो सकती है और अगले एक साल में यह 2,000 डॉलर तक भी जा सकती है। इस साल सोने की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब 20 फीसदी बढ़ चुकी है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close