संपादक
Trending

अनलॉक के बाद भी मशहूर हैप्पी स्ट्रीट की दुकानों पर पाबंदी जारी, 100 से ज्यादा लोगों की जीविका पर संकट, सरकार से गाइडलाइन जारी करने की मांग

7 फरवरी 2020 को अहमदाबाद नगर निगम ने 325 मीटर लंबी हैप्पी स्ट्रीट का निर्माण किया। निगम ने इसके लिए 8. 5 करोड़ रुपये खर्च किए। अभी कोरोना के चलते यहां पाबंदी जारी है।

Khabar Safar Media

नई दिल्ली : Updated: 18 July 2020 10:50 AM IST

इस साल फरवरी महीने में अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने हैप्पी स्ट्रीट की शुरुआत की थी, कोरोना के चलते अभी तक दुकानें बंद हैं

यहां 31 बड़ी दुकानें व तीन तरह की 11 छोटी दुकानों की फूड वैन हैं, एक फूड वैन के सामने 24 लोगों के बैठने की जगह होती है

31 बड़ी दुकानें व तीन तरह की 11 छोटी दुकानों की फूड वैन हैं। एक फूड वैन के सामने 24 लोगों के बैठने की जगह होती है।

अहमदाबाद खाने-पीने वालों के लिए एक फेवरेट शहर है। यहां के लजीज स्ट्रीट फूड्स दुनियाभर में फेमस हैं। अहमदाबाद के लो-गार्डन इलाके में इसी साल फरवरी में हैप्पी स्ट्रीट की शुरुआत हुई। अभी लोग यहां के जायकों का लुफ्त उठाते उससे पहले ही कोरोना के चलते लॉकडाउन लग गया और हैप्पी स्ट्रीट को बंद करना पड़ा।

लॉकडाउन के बाद अनलॉक 1 की शुरुआत हुई तो थोड़ी उम्मीद जगी कि यहां के जायकों की महक लौटेगी लेकिन अभी तक रौनक नहीं लौटी है। कोरोना संक्रमण और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर यहां के बाजार अभी भी नहीं खुल सके हैं, पाबंदी जारी है। इसका असर यहां के कारोबारियों व दुकानदारों पर पड़ा है। उनका काफी नुकसान हुआ है।

इसी साल फरवरी में हैप्पी स्ट्रीट की शुरुआत हुई। कोरोना के चलते अभी यहां पाबंदी जारी है।

31 बड़ी और तीन प्रकार की 11 छोटी फूड वैन

अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की तरफ से शुरू की गई हैप्पी स्ट्रीट में 31 बड़ी दुकानें और तीन तरह की 11 छोटी दुकानों की फूड वैन हैं। एक फूड वैन के सामने 24 लोगों के बैठने की जगह होती है। उसके सामने पार्किंग बनाया गया है। पूरी स्ट्रीट के लूक को  हेरिटेज के रूप में दिया गया है।

गाइडलाइन जारी होने के बाद विचार करेंगे

हैप्पी स्ट्रीट ओपन करने को लेकर स्टैंडिंग कमिटी के चेयरमैन अमुल भट्ट ने दैनिक भास्कर को बताया कि सार्वजनिक स्थलों को खोलने को लेकर केंद्र सरकार ने कोई गाइडलाइन जारी नहीं की है। इसलिए अभी हैप्पी स्ट्रीट बंद रहेगा और खाने-पीने की दुकानें नहीं खुल पाएंगी। गाइडलाइन जारी होने के बाद ही कुछ निर्णय लिया जा सकेगा।

स्ट्रीट फ़ूड स्टॉल शुरू करने के लिए ब्लॉगर्स ने मांगी अनुमति

फूड ब्लॉगर अभिनिषा जुबिन आशरा ने दैनिक भास्कर से कहा कि सरकार को स्ट्रीट फ़ूड विक्रेताओं के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दुकानें खोलने की अनुमति देनी चाहिए। फूड स्टॉल खोलने की छूट मिलनी चाहिए। इसके साथ ही रेस्त्रां वालों को भी इस बात का ध्यान रखना होगा कि उनके खाने की क्वालिटी बनी रहे, स्वाद बना रहे, तो ही लोग फूड ऑर्डर कर पाएंगे। 

रेस्त्रां मालिकों को हाइजीन फ़ूड और कोरोना से बचने के उपाय के साथ ग्राहकों का विश्वास जीतना होगा। जो ग्राहकों का विश्वास जीतेगा, वही इस कोरोना के दौर में अच्छी कमाई कर सकेगा। अभी लोगो ने फ़ूड की होम डिलीवरी लेने की शुरुआत कर दी है और अगस्त तक होटल्स भी खोली जा सकते हैं, ऐसी उम्मीद की जा रही है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close