कारोबारबिजनस

होम लोन की ब्याज दरें सबसे निचले स्तर पर पहुंचीं, टैक्स और पीएमएवाई के लाभ के बाद 2.5% की दर पर आ गया इंटरेस्ट रेट

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ के लिए अगर आप योग्य नहीं हैं तो ब्याज दरें 4% के आस पास पड़ेंगी

अगर आप प्रधानमंत्री आवास योजना और टैक्स दोनों का लाभ नहीं लेते हैं तो यह ब्याज दर 6.80% पर पड़ेगी

देश में होम लोन की ब्याज दरें अब 2.5 प्रतिशत तक पहुंच गई हैं।

Updated: Sat,25 Jul 2020 05:30 PM (IST )

आपने शायद कल्पना नहीं की होगी न ही कभी सुना होगा। देश में होम लोन की ब्याज दरें अब 2.5 प्रतिशत तक पहुंच गई हैं। अगर आप 27 लाख रुपए का लोन लेते हैं और इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई), टैक्स पर छूट जोड़ देते हैं तो आपको 2.5 प्रतिशत पर लोन मिल रहा है। अगर आप पीएमएवाई के योग्य नहीं हैं तो फिर यह दरें आपको 4 प्रतिशत तक हो सकती हैं।

हालांकि अगर कोई टैक्स छूट नहीं होती है तो फिर आपको यह ब्याज दर 6.80 पड़ेगी। यानी तीनों स्थितियों में होम लोन की ब्याज दरें इस समय ऑल टाइम लो पर हैं। यह उस स्तर पर है जो कभी नहीं हुआ था।

कैसे मिलेगा 2.5 प्रतिशत पर होम लोन

आप इसके लिए इस चार्ट को देख सकते हैं। यह चार्ट हालांकि 7.5 प्रतिशत के होम लोन की ब्याज दर पर है। इस साल मार्च में होम लोन की यही दर थी। इस चार्ट में साल 2000, 2002 और 2020 की तुलना की गई है। इसके अनुसार साल 2000 में आप 27 लाख के होम लोन पर 3.57 लाख रुपए ब्याज चुकाते थे। 2002 में यह 2.90 लाख रुपए हो गई और अब यह ब्याज राशि 1.85 लाख रुपए है।

ज दरें अब रेपो रेट से जुड़ी हैं

बैंक ऑफ महाराष्ट्र के एमडी एवं सीईओ ए.एस. राजीव कहते हैं कि बाजार से जुड़ी ब्याज दरों के कारण यह स्थिति आई है। यूनियन बैंक के एम.डी. आर.के राय कहते हैं कि होम लोन की ब्याज दरों में गिरावट इसलिए आई है क्योंकि बैंक की दरें रेपो से जुड़ी हुई हैं। इसलिए जब भी रेपो रेट में कटौती होती है यह दरें नीचे आ जाती हैं। हाल में आरबीआई ने रेपो की दरों में तेजी से ज्यादा कटौती की है।

बैंकों के फंड की लागत घट गई है

एसबीआई के एक अधिकारी के मुताबिक हमारे बैंक की फंड की लागत इस समय निचले स्तर पर है। शुद्ध ब्याज मार्जिन काफी ज्यादा है। एसबीआई इसलिए 6.95 प्रतिशत की ब्याज दर पर होम लोन दे रही है। ब्याज मार्जिन का मतलब उधारी पर ली जाने वाली ब्याज और डिपॉजिट पर दी जाने वाली ब्याज से होता है। बैंकिंग सेक्टर के जानकार कहते हैं कि मूलधन का पेमेंट, ब्याज का पेमेंट और प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के कारण ब्याज दरें निचले स्तर पर आ गई हैं। यह शायद इतिहास में अब तक की सबसे निचले दर की ब्याज है।

पीएमएवाई पर 2.67 लाख रुपए की सुविधा

अगर किसी ने पीएमएवाई की सुविधा नहीं ली तो उसे यह ब्याज दर थोड़ी बढ़ जाएगी जो 4 प्रतिशत पर होगी। पीएमवाई पर 2.67 लाख रुपए की सब्सिडी मिलती है। मार्च तक होम लोन की ब्याज दरें 7.50 प्रतिशत पर ही थीं। हालांकि साल 2004-05 में 7.25 प्रतिशत पर कुछ समय के लिए होम लोन की ब्याज दरें थीं। देश में प्रमुख बैंकों और एनबीएफसी की ब्याज दरों की बात करें तो एचडीएफसी लिमिटेड, एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक 6.95 प्रतिशत पर होम लोन दे रहे हैं। जबकि एक्सिस बैंक 7.75 प्रतिशत पर, एलआईसी हाउसिंग 6.90 प्रतिशत पर होम लोन दे रहा है।

यूनियन बैंक 6.80 के साथ सबसे कम दर पर होम लोन दे रहा है। इंडिया बुल्स हाउसिंग फाइनेंस की ब्याज दर 8.99 प्रतिशत जबकि कैन फिन की ब्याज दर 8.80 प्रतिशत है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close