उतर प्रदेशकॉन्ट्रोवर्सीजुर्मजुर्म की खबरेंराज्यों से
Trending

कानपुर के बाद अब गोरखपुर, 1 करोड़ की फिरौती के लिए 5वीं के छात्र की हत्या कर नाले में फेंका शव

गोरखपुर जिले के पिपराइच थाना क्षेत्र का रहने वाला था कक्षा छह का छात्र

अपहरण के बाद ही बच्चे की हत्या कर दी गई थी, पुलिस ने गांव के पास से शव बरामद किया

पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत तीन को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी

एसटीएफ ने बरामद किया बच्चे का शव

Updated: Mon,27 Jul 2020 10:47 PM (IST )

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के पिपराइच थाना क्षेत्र में एक परचून कारोबारी के 14 साल के बेटे की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। सोमवार शाम केवटिया टोला के पास से पुलिस ने नाले के पास से बोरे में लड़के की लाश बरामद की। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी दयानंद राजभर को हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

इस वारदात में तीन-चार और लोग भी शामिल हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है। किडनैपर्स ने एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी।

फर्जी सिम बेचने के आरोप में दो हिरासत में

एसएसपी गोरखपुर डॉ.सुनील गुप्ता ने बताया कि आरोपी दयानंद राजभर जंगल चक्रधारी का रहने वाला है। इस घटना में इस्तेमाल किए गए मोबाइल और कुछ सिम बरामद किए गए हैं। फर्जी सिम जारी करने के आरोप में रिंकू गुप्ता और निकेश को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दयानंद ने सोमवार शाम पांच बजे ही बच्चे को मार दिया था। दयानंद से पूछताछ जारी है।

12 बजे खेलने के लिए बाहर निकला था बलराम
यहां जंगल छत्रधारी गांव में मिश्रौलिया टोला के पास रहने वाले महाजन गुप्त घर में ही किराने की दुकान चलाते हैं। साथ ही जमीन के कारोबार से भी जुड़े हैं। उनका बेटा बलराम रविवार दोपहर करीब 12 बजे खाना खाने के बाद दोस्तों के साथ खेलने निकला और घर नहीं लौटा।

करीब तीन घंटे के बाद तीन बजे महाजन गुप्त के मोबाइल पर एक फोन आया। यह किडनैपर्स का था। उन्होंने गुप्त को बताया कि बलराम का अपहरण कर लिया गया है। उसे छुड़ाने के लिए एक करोड़ रुपए का इंतजाम कर लो। रकम कब और कहां पहुंचानी है, इस बारे में बताया जाएगा।

महाजन ने उस नंबर पर दोबारा फोन किया तो वह स्विच ऑफ मिला। महाजन को अपने बेटे के अपहरण की बात पर भरोसा नहीं हुआ। उन्होंने बेटे की गांव में तलाश की। लेकिन, कुछ पता नहीं चला। इसके बाद शाम पांच बजे पुलिस को सूचना दी। गुलरिहा, पिपराइच, सीओ चौरी चौरा, क्राइम ब्रांच और एसटीएफ की टीम को अलर्ट मोड पर किया गया।

गोंडा में भी बच्चे का अपहरण हुआ था, कानपुर कांड में पुलिस की किरकिरी
यूपी में लगातार अपहरण की घटनाएं सामने आ रही हैं। हाल ही में शुक्रवार को गोंडा जिले के करनैलगंज कस्बे से गुटखा कारोबारी के छह साल के बेटे का अपहरण कर लिया गया था। परिजन से 4 करोड़ फिरौती मांगी गई थी। हालांकि, पुलिस ने घटना के 17 घंटे बाद ही किडनैपर्स से बच्चे काे छुड़ा लिया था। 6 आरोपी भी गिरफ्तार किए गए थे।

कानपुर में भी किडनैपिंग के बाद मर्डर का मामला सामने आया था। एक महीने पहले लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का अपहरण दोस्तों ने ही किया था। इसके बाद हत्या करके उसकी लाश पांडू नदी में फेंक दी थी। इस मामले में शुक्रवार को एक आईपीएस समेत 11 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया।

गुरुवार को इस मामले में दो आरोपी गिरफ्तार किए गए। संजीत के परिवार ने आरोप लगाया कि उन्होंने पुलिस की जानकारी में अपहरणकर्ताओं को 30 लाख की फिरौती दी, फिर भी बेटा नहीं बचा।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close