कारोबारकॉर्पोरेटबिजनसमनी
Trending

LIC दे रही एक शानदार पॉलिसी, सिर्फ एक बार किस्त भरें और जिंदगी भर पाएं पेंशन

LIC की जीवन शांति स्कीम (Jeevan Shanti Scheme) खास उन लोगों के लिए है जो रिटायरमेंट के बाद अपनी आय बरकरार रखना चाहते हैं. इस पॉलिसी को लेते वक्त पॉलिसीधारक के पास पेंशन को लेकर दो ऑप्शन होते हैं. इनकम टैक्स बचाने में भी है मददगार

सिर्फ एक बार निवेश करने पर मिलेगा जीवन भर पेंशन

Updated: Mon,27 Jul 2020 10:32 PM (IST )

नई दिल्ली: इनकम टैक्स (Income Tax) जमा करने की अंतिम तारीख बेहद करीब है. ऐसे में हर आयकर दाता अपना टैक्स बचाना चाहता है. लेकिन इस बीच भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) एक शानदार पॉलिसी लेकर आई है. इस पॉलिसी की खास बात ये है कि सिर्फ एक बार पैसा लगाने पर रिटायरमेंट के बाद भी हर महीने कमाई होती रहेगी. 

जीवन शांति स्कीम
LIC की जीवन शांति स्कीम (Jeevan Shanti Scheme) खास उन लोगों के लिए है जो रिटायरमेंट के बाद अपनी आय बरकरार रखना चाहते हैं. इस पॉलिसी को लेते वक्त पॉलिसीधारक के पास पेंशन को लेकर दो ऑप्शन होते हैं. पहला इमीडिएट (Immidiate) दूसरा डेफ्फर्ड एन्युटी (Differed Annuity). रिटायरमेंट के समय एक निश्चित राशि प्राप्त करने का यह एक अच्छा तरीका है. दोनों प्लान की अलग-अलग खासियत और फायदे हैं.

इमीडिएट (Immidiate) और डेफ्फर्ड एन्युटी (Differed Annuity) को समझें
इमीडिएट क मतलब है कि आप पॉलिसी लेने के तुरंत बाद ही पेंशन लेने लगें. वहीं, डेफ्फर्ड एन्युटी का मतलब है कि आप पॉलिसी लेने के कुछ समय (5, 10, 15, 20 साल) पेंशन लेना शुरू करें. इमीडिएट पॉलिसी में आपको 7 तरह के ऑप्शन मिलते हैं. वहीं, डेफ्फर्ड में दो ऑप्शन मिलते हैं. इस पॉलिसी के साथ ग्राहकों को लोन की सुविधा भी मिलती है. साथ ही आप इसे 3 महीने के बाद कभी भी सरेंडर कर सकते हैं.

कम से कम 1.50 लाख का निवेश है जरूरी
जीवन शांति प्लान के तहत कम से कम 1.50 लाख रुपए निवेश करना जरूरी होगा. अधिकतम राशि की कोई सीमा तय नहीं की गई है. आप अपनी सुविधा के हिसाब से एकमुश्त 5 लाख या 10 लाख या इससे भी ज्यादा जमा कर सकते हैं.

सिर्फ 30 साल से ज्यादा उम्र के लोग भी खरीदने के पात्र
पॉलिसी लेने के लिए कम से कम 30 साल आपकी उम्र होनी चाहिए. वहीं, अगर तुरंत पेंशन चाहिए तो अधिकतम उम्र 85 साल होनी चाहिए. डिफरमेंट प्लान के लिए अधिकतम उम्र 79 साल होनी चाहिए.

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Your Page Title
Close
Close